Header Ads

 CORONA, CORONA, COVID-19,

Breaking News

आखिर क्यों न्यूजीलैंड दौरे पर मौका मिला था पंत को, ऋद्धिमान साहा ने कही ये बड़ी बात

Wriddhiman Saha Image Source : AP IMAGE

भारतीय टेस्ट टीम के अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा ने हाल ही में रणजी ट्रॉफी के फ़ाइनल मुकाबले में बेहतरीन बल्लेबाजी और कीपिंग का नजारा पेश किया था। मगर टीम के इस अनुभवी कीपर को पिछले न्यूजीलैंड दौरे पर टीम की प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली थी। जिसके बाद अब साहा ने खुलासा किया है कि आखिर क्यों उनकी जगह युवा ऋषभ पंत को न्यूजीलैंड की सरजमीं पर मौका दिया गया था।  

रणजी ट्रॉफी के खिताबी मुकाबले में बंगाल की ओर से सौराष्ट्र के खिलाफ मैदान में उतरते हुए 35 साल के विकेटकीपर बल्लेबाज साहा ने 64 रन बनाए थे। उन्होंने अपनी पारी में 10 चौके और एक छक्का लगाया था। जिसके बाद उन्होंने कहा, "जब बल्लेबाजी क्रम का फैसला होता है तो आमतौर पर हर खिलाड़ी को स्‍क्वॉड का पता होता है। लेकिन उन्हें वहां जाने के बाद पता चला। साहा ने कहा कि यह बिल्कुल भी मुश्किल नहीं था, क्योंकि आप फिर भी टीम का हिस्सा हैं। उन्होंने कहा कि आपको परिस्थिति के अनुसार टीम मैनेजमेंट के फैसले पर जाना होता है, मगर अंदर से आप उम्‍मीद रखते हैं।"

गौरतलब है कि न्यूजीलैंड की मेजबानी में खेले गए दो टेस्ट मैचों की सीरीज में उम्मीद की जा रही थी टीम इंडिया की विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी साहा संभालेंगे, मगर कप्तान विराट कोहली की अलग ही योजना थी और घरेलू सीजन में एक भी टेस्ट न खेलने वाले ऋषभ पंत को अचनाक ही मैदान पर उतार दिया था। हलांकि टीम इंडिया को दो टेस्ट मैचों की सीरीज में बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा था। 

टीम इंडिया की बात करें तो घरेलू सीजन में साहा की कीपिंग का जिम्मा महेंद्र सिंह धोनी के बाद से टेस्ट क्रिकेट में संभालते आ रहे हैं। मगर घर से बाहर कोहली ने उनकी जगह पंत को चुना, जिसका प्रमुख कारण साहा की घर से बाहर बल्लेबाजी भी मानी जाती है। जिस पर साहा ने स्पोर्ट्स स्टार से कहा, "उन्हें निजी  तौर पर अभी इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। मगर वह टीम को सबसे आगे रखते हैं और इसके बाद उनकी व्यक्तिगत पसंद आती है। यदि टीम ने फैसला किया है कि पंत खेलेंगे तो उन्हें कोई परेशानी नहीं है। वह सिर्फ टीम को जीतते हुए देखना चाहते हैं।"

बता दें कि टीम इंडिया का न्यूजीलैंड दौरे काफी निराशाजनक रहा। जिसमें उसे टी20 सीरीज में तो जीत मिली लेकिन वनडे और टेस्ट सीरीज में बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा। हलांकि इस हार के बावजूद टीम इंडिया वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप की अंत तालिका में 360 अंको के साथ शीर्ष पर बरकरार है। जिसका फ़ाइनल मुकाबला साल 2021 में खेला जाएगा।



from India TV: sports Feed

No comments