विवाह में आ रही अड़चन या नौकरी में चाहिए प्रमोशन, हर समस्या को दूर करने के लिए करें ये खास उपाय - Businessvistar.com | News - Breaking News, Latest News, Top Video News and Taaza Khabar

Header Ads


Breaking News

विवाह में आ रही अड़चन या नौकरी में चाहिए प्रमोशन, हर समस्या को दूर करने के लिए करें ये खास उपाय

प्रदोष व्रत Image Source : INSTRAGRAM/GUJJUCHHOKRO

ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि और बुधवार का दिन है। त्रयोदशी तिथि शाम 7 बजकर 43 मिनट तक रहेगी। उसके बाद चतुर्दशी तिथि लग जाएगी। आज पूरा दिन पार करके अगले दिन की सुबह 6 बजे तक सौभाग्य योग रहेगा। नाम के अनुरूप ही यह भाग्य को बढ़ाने वाला है। इस योग में की गई शादी से वैवाहिक जीवन सुखमय रहता है। इसीलिए इसे मंगलदायक योग भी कहते हैं। माना जाता है की सौभाग्य योग के दौरान किसी भी प्रकार के शुभ कार्य करने के लिए मुहूर्त देखने की जरुरत नहीं होती। यानि की सौभाग्य योग के दौरान आप बिना किसी मुहूर्त के कोई भी शुभ कार्य संपन्न कर सकते है।

आज रात 10 बजकर 37 मिनट तक अश्विनी नक्षत्र रहेगा। सत्ताईस नक्षत्रों में से अश्विनी पहला नक्षत्र है। अश्विनी नक्षत्र का प्रतीक चिन्ह घोड़े को माना जाता है, जो कि शक्ति, यात्रा और तीव्रता का प्रतीक है। यात्रा शब्द अपने आप में ही किसी प्रकार के आरंभ का प्रतीक है। लिहाजा अश्विनी नक्षत्र को भी यात्राओं से जोड़कर देखा जाता है। ये नक्षत्र यात्रा आरंभ करने के लिए, कृषि के लिए और नए वस्त्र खरीदने के लिए शुभ होता है।  अश्विनी नक्षत्र के स्वामी केतु हैं। पेड़ पौधों में अश्विनी नक्षत्र का संबंध कुचिला के पेड़ से बताया गया है। इसके आलावा आज शाम 7 बजकर 43 मिनट से लेकर पूरे दिन पूरी रात स्वर्ग लोक की भद्रा रहेगी। भद्रा जिस भी लोक में स्थित होती है, केवल वहीं मूलरूप से प्रभावी रहती है, अतः इसका पृथ्वी लोक पर कोई असर नहीं होगा  

आज ज्येष्ठ कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि है और आप सबको पता ही होगा कि प्रत्येक महीने के कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि को भगवान शिव को समर्पित प्रदोष व्रत किया जाता है। प्रदोष व्रत में प्रदोष काल का बहुत महत्व होता है। त्रयोदशी तिथि में रात्रि के प्रथम प्रहर, यानि दिन छिपने के बाद शाम के समय को प्रदोष काल कहते हैं। इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा की जाती है। इस दिन नित्य कर्मों से निवृत्त होने के बाद भगवान शिव और माता पार्वती की विधि पूर्वक पूजा करनी चाहिए। सुबह पूजा आदि के बाद संध्या में, यानी प्रदोष काल के समय भी इसी प्रकार से भगवान शिव की पूजा करनी चाहिए। आज के दिन जो व्यक्ति प्रदोष का व्रत रखकर भगवान शिव की पूजा आदि करता है और भगवान शिव या उनके तस्वीर की दर्शन करता हैं। उसके समस्त मनोकामनाओं की पूर्ति होती है। साथ ही उसके जीवन में चल रही समस्त समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है।  इसके आलावा आज ही मास शिवरात्रि का भी व्रत किया जायेगा। बता दूं कि- मास शिवरात्रि का व्रत और पूजा चतुर्दशी तिथि की रात में किया जाता है और चतुर्दशी तिथि आज शाम 7 बजकर 44 मिनट पर शुरू हो जायेगी और कल रात 9 बजकर 37 मिनट तक रहेगी यानि की चतुर्दशी की रात आज ही पड़ रही है। लिहाजा मास शिवरात्रि का व्रत आज ही किया जायेगा।

मास शिवरात्रि में भी भगवान शिव और देवी पार्वती के निमित्त आज के दिन व्रत कर भगवान शिव की पूजा करने से जातक या परिवार में किसी भी सदस्य के विवाह में आ रही अड़चने भगवान शिव की कृपा से दूर हो जाती है और सुयोग्य वर की प्राप्ति भी होती है। 

Pradosh Vrat 2020: बुधवार को प्रदोष व्रत, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और व्रत कथा

 आज के दिन पड़ने वाले प्रदोष और मास शिवरात्रि के बारे में और अब बात करेंगे आज के दिन सौभाग्य योग, अश्विनी नक्षत्र, प्रदोष और मास शिवरात्रि के संयोग में किये जाने वाले खास उपायों की जिसे आप घर बैठे ही करके अपने जीवन।

अगर आप अपने किसी शत्रु से परेशान हैं, तो उससे मुक्ति पाने के लिए आज के दिन स्नान आदि से निवृत्त होकर भगवान शिव के सामने घी का दीपक जलाएं। साथ ही शिव जी के इस मंत्र का 11 बार जप करें। मंत्र इस प्रकार है -

ऊँ शं शं शिवाय शं शं कुरु कुरु ऊँ
आज के दिन ऐसा करने से आपको अपने शत्रुओं से जल्द ही छुटकारा मिलेगा। 

Vastu Tips: झाड़ू को इस्तेमाल करते समय ध्यान रखें ये बातें, नहीं बन सकता है आर्थिक परेशानी का कारण

अगर आप अपने घर पारिवार को दूसरों की बुरी नजर से बचाएं रखना चाहते हैं, तो आज के दिन स्नान आदि के बाद शिव जी को प्रणाम करें और उनके सामने आसन बिछाकर बैठ जाएं। फिर शिव जी के इस मंत्र का 21 बार जप करें। मंत्र इस प्रकार है-
'ॐ नम: भगवतेय रुद्राय'
इस मंत्र का 21 बार जप करने के बाद मन में ये भाव रखें की भगवान शिव को पुष्प अर्पित कर रहें है। आज के दिन ऐसा करके आप अपने घर परिवार को दूसरों की बुरी नजर से बचा सकते हैं।
 
अगर आप किसी से प्यार करते हैं और उसी को अपना जीवनसाथी बनाना चाहते हैं, तो आज के दिन अपनी दिल की इच्छा को पूरा करने के लिये, अपना मनचाहा प्यार पाने के लिये तांबे का एक सिक्का सफेद धागे में पिरोकर गले में धारण करें। आज के दिन तांबे का सिक्का धारण करने से आप अपने मनचाहे प्यार को पाने में सफल होंगे। 

 किसी कारणवश आपके विवाह में लंबे समय से अड़चने आ रही हैं, तो उन अड़चनों से मुक्ति पाने के लिए आज के दिन स्नान आदि के बाद शिव जी को प्रणाम करें और उनके सामने आसन बिछाकर बैठ जाएं। फिर शिव जी के इस मंत्र का 11 बार जप करें। मंत्र इस प्रकार है - 'ॐ नम: शिवाय' आज के दिन इस मंत्र का 11 बार करने से आपके विवाह में आ रही सारी अड़चने जल्द ही समाप्त हो जाएंगी।

अगर आप अपनी सफलता के मार्ग में आ रही बाधाओं से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको शिव-शंभु के आगे बैठकर उनके इस मंत्र का 11 बार जप करना चाहिए, मंत्र इस प्रकार है -   
शिवे भक्ति:शिवे भक्ति:शिवे भक्तिर्भवे भवे।
अन्यथा शरणं नास्ति त्वमेव शरणं मम्।।

आज के दिन इस मंत्र का 11 बार जप करने से आपकी सफलता के मार्ग में आ रही बाधाएं जल्द ही दूर हो जायेंगी। 

अगर आपके बच्चे की बौद्धिक क्षमता कमजोर है और वह कोई भी कंपेटेटिव एग्जाम क्लीयर नहीं कर पाता है, तो आज के दिन भगवान शिव जी को पंचामृत चढ़ाएं। साथ ही शिव जी के पंचाक्षरी मंत्र का 21 बार जप करें। मंत्र इस प्रकार है-'ऊँ नमः शिवाय' आज के दिन ऐसा करने से आपके बच्चे की बौद्धिक क्षमता मजबूत होगी। 

अगर आप सरकारी जॉब मे हैं और आपका बहुत दिनों से प्रमोशन रुका हुआ है, तो नौकरी में जल्द ही प्रमोशन पाने के लिए आज प्रदोष व्रत के दिन सवा किलो साबुत चावल लें। अब उनमें से कुछ चावल शिव जी को चढ़ाएं और बाकी चावलों को किसी जरुरतमंद को दे दें। आज के दिन ये उपाय करने से नौकरी में जल्द ही आपका प्रमोशन होगा। 

अगर आप अपने अंदर पॉजिटिव उर्जा की बढ़ोतरी करना चाहते है, तो आज के दिन भगवान शिव की मूर्ति या तस्वीर के आगे आसन बिछाकर बैठ जाएं। आसन बिछाते समय इस बात का ध्यान रखें कि आसन पर बैठते समय आपका मुंह पूर्व दिशा की तरफ होना चाहिए और भगवान की प्रतिमा ठीक आपके सामने होनी चाहिए। इस तरह सब अच्छे से व्यवस्थित होने के बाद केवल 'ॐ' शब्द का तेज आवाज में गहरी सांस लेकर 11 बार उच्चारण करें। आज के दिन ऐसा करने से आपके अंदर पॉजिटिव उर्जा की बढ़ोतरी भी होगी।
 
अगर आप पढ़ाई-लिखाई के क्षेत्र में हमेशा अव्वल बने रहना चाहते हैं, अपने आपको हमेशा  टॉप पर देखना चाहते हैं तो उसके लिये आज के दिन अपने गुरु को कुछ भेंट करने का संकल्प लें और जब मौका मिले अपने गुरु को आदर सहित भेंट कर दें। आज के दिन ऐसा करने से आप पढ़ाई-लिखाई के क्षेत्र में हमेशा अव्वल बने रहेंगे। 



from India TV Hindi: lifestyle Feed https://ift.tt/3e0PvXB

No comments