Header Ads


Breaking News

पांच दिन में Share Market में शानदार Recovery, Investors को हुआ 10 लाख करोड़ का फायदा

नई दिल्ली। बीते पांच दिनों में शेयर बाजार में शानदार रिकवरी देखने को मिली है। अच्छे मानसून ( Monsoon ), अनलॉक इंडिया ( Unlock India 1.0 ) के डिसीजन और इकोनॉमिक रिफॉर्म ( Ecomnomic Reform ) को लेकर हुई घोषणाओं से शेयर बाजार ( Share Market ) में जबरदस्त एक्शन देखने को मिला। सेंसेक्स ( Sensex ) इन पांच दिनों में 3000 हजार से ज्यादा अंकों तक भागा और निफ्टी 50 ( Nifty 50 ) 10 हजार अंकों के करीब पहुंच गया। बात आज की करें तो शेयर बाजार में अच्छी तेजी देखने को मिली। सेंसेक्स 500 से ज्यादा अंकों की बढ़त के साथ बंद हुआ। वहीं निफ्टी 150 से ज्यादा अंकों की बढ़त के साथ बंद हुआ है। जानकारों की मानें तो आने वाले दिनों में बाजार में और तेजी देखने को मिल सकती है।

CMIE Report : मई के महीने में Employment के मोर्चे पर मामूली राहत, 2 करोड़ से ज्यादा काम पर लौटे

सेंसेक्स पांच दिन में 3000 हजार अंकों से ज्यादा चढ़ा
मंगलवार के सेंसेक्स की बढ़त को जोड़ दिया जाए तो पांच दिन में सेंसेक्स करीब 3200 अंकों तक चढ़ गया है। 26 मई को सेंसेक्स 30609 अंकों पर बंद हुआ था। उसके बाद से सेंसेक्स में लगातार तेजी देखने को मिल रही है। जबकि आज सेंसेक्स 522 अंकों की बढ़त के साथ 33826 अंकों पर बंद हुआ। यानी पांच दिनों में सेंसेक्स में 3214 अंकों की बढ़त की हो गई है।

Loan Moratorium Extension : HDFC और Axis Bank ने दी Customers को EMI से राहत

निफ्टी में भी 950 अंकों की तेजी
वहीं बात नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की प्रमुख सूचख्कांक निफ्टी 50 की करें तो पांच दिनों में 950 अंकों की बढ़त पर आ गई है। अगर बात 26 मई की करें तो उस दिन निफ्टी 9029 अंकों पर बंद हुआ था। जबकि आज निफ्टी 9979 अंकों पर बंद हुआ है। ऐसे में निफ्टी में 950 अंकों की तेजी आ चुकी है। जबकि आज निफ्टी 153 अंकों की बढ़त के साथ हुआ है।

Delhi-NCR में CNG हुई महंगी, Air Fuel में करीब 50 फीसदी का इजाफा

बाजार निवेशकों को 10 लाख करोड़ का फायदा
सबसे ज्यादा राहत की सांस निवेशकों की ओर से ली गई है। इन पांच दिनों में निवेशकों को 10 लाख करोड़ रुपए का फायदा हुआ है। अगर इसे रिकवरी कहें तो कम नहीं होगा। वास्तव में बीएसई की लिस्टेड कंपनियों का एमकैप बीएसई के मार्केट कैप से जुड़ा होता है। 26 मई को बीएसई का मार्केट कैप 1,21,60,990.41 करोड़ रुपए था। जबकि आज मार्केट बंद हुआ है तो 1,31,92,220.36 करोड़ रुपए था। अंतर देखें तो 10.31 लाख करोड़ रुपए का है। यही निवेशकों का फायदा है।

Moodys ने भारत को दिया बड़ा झटका, 22 साल के बाद कम की Sovereign Rating

ये प्वाइंट कर रहे हैं परेशान
- इन्हीं पांच दिनों में आए जीडीपी के आंकड़े बिल्कुल भी अच्छे नहीं, देश की जीडीपी 11 साल के निचले स्तर पर।
- मूडीज की ओर से सॉवरेन रेटिंग में कटौती कर दी, इकोनॉमी के लिए अच्छा नहीं।
- कोर इंडस्ट्री 38 अंकों तक नीचे गिर गई है।
- देश के मैन्युफैक्चरिंग के आंकड़े भी अच्छे नहीं आए हैं।
- पहले दक्षिण भारत और अब महाराष्ट्र में चक्रवात आने की संभावना मार्केट के लिए अच्छा नहीं है।
- देश में लगातार कोरोना के केसेस बढ़ते जा रहे हैं, जो 2 लाख के करीब पहुंच गए हैं।

जानिए सरकार के फैसले के बाद किस फसल पर किसान को होगी ज्यादा कमाई

क्या कहते हैं जानकार
केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया ने बताया कि पांच दिनों में शेयर बाजार में जो कुछ बीता और बुरे दौर कुछ बेहतर की उम्मीदों की वजह से था। अनलॉक की ओर कदम बढ़ाया गया। रिफॉर्म को लेकर घोषणाएं हुईं, पीएम मोदी ने हरी झंडी दिखाई। अच्छे मानसून के संकेत मिले। इन्हीं वजहों से मार्केट में तेजी देखने को मिली है। उन्होंने कहा कि फिर भी बाजार निवेशक डाउटफुल हैं। अभी वो 15 दिन बाजार को और देखने के बाद आगे की ओर कदम बढ़ाएंगे।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/2TYmPXG

No comments

// //graizoah.com/afu.php?zoneid=3394670